वर्चुअल क्रेडिट कार्ड क्या होता है और इसे कैसे ले सकते हैं? 2022

वर्चुअल क्रेडिट कार्ड क्या होता है और इसे कैसे ले सकते हैं? 2022

आजकल वर्चुअल क्रेडिट कार्ड का इस्तेमाल खूब किया जा रहा है पर अभी भी ऐसे कई लोग हैं जिनको इसके बारे में नहीं पता है कि इससे क्या होता है और इसे कैसे ले सकते हैं तो यदि वह इस आर्टिकल को पढ़ेंगे तो इस आर्टिकल में वर्चुअल क्रेडिट क्या होता है और इसे कैसे ले सकते हैं इसके बारे में संपूर्ण जानकारी दी गई है।

नमस्कार दोस्तों एक बार फिर से स्वागत है आपका हमारी वेबसाइट के अंदर। यदि आप अभी जानना चाहते हैं वर्चुअल क्रेडिट कार्ड क्या होता है और इसे कैसे ले सकते हैं तो यह आर्टिकल अंत तक पढ़ें। जी हां दोस्तों इस आर्टिकल के अंत तक पढ़ते-पढ़ते आपको वर्चुअल क्रेडिट कार्ड के बारे में सभी महत्वपूर्ण जानकारी ज्ञात हो जाएंगी बस आपको इसे बिल्कुल एंड तक पढ़ना है ताकि इसके बारे में हम आपको जो भी बताएं मेरा मतलब है कि इस आर्टिकल के अंदर जो भी बताएं वह आप जान पाए तो चलिए दोस्तों शुरू करते हैं।

दोस्तों मेरे ख्याल से अपने डेबिट कार्ड के बारे में सुना होगा क्रेडिट कार्ड के बारे में सुना होगा लेकिन जब बात आती है वर्चुअल क्रेडिट कार्ड की तो हो सकता है इसके बारे में अपनी नहीं सुना हो क्योंकि इसका इस्तेमाल अभी इतना ज्यादा नहीं किया जा रहा है जिन लोगों को इसके बारे में सभी जानकारी है वे ही इसका इस्तेमाल कर रहे हैं। पर चिंता मत करिए यदि आप चाहें तो इस आर्टिकल को पढ़ने के बाद आप भी वर्चुअल क्रेडिट कार्ड क्या होता है और इसे कैसे ले सकते हैं एवं इसके बारे में अन्य जानकारी जानकर आप भी इसका इस्तेमाल कर सकेंगे।

दोस्तों हमें आपको यह बताने की आवश्यकता नहीं है कि आज का जो जमाना है वह इंटरनेट का जमाना है और लगभग वर्तमान में सब चीज ऑनलाइन हो चुकी है सिर्फ कुछ महत्वपूर्ण कार्य को छोड़कर। हां वैसे अभी भी ऐसी कई सारी चीजें हैं जो ऑनलाइन नहीं हैं पर अधिकतर हैं। और अब तो शॉपिंग भी ऑनलाइन होने लगी है जिस कारण ऑनलाइन मार्केटिंग धुआंधार बढ़ रही है और लोग इससे पैसे कमा रहे हैं और वैसे बात की जाए मल्टीमीडिया मोबाइल की तो यह तो लगभग अब हर किसी के पास मिल जाता है और हर इंसान इंटरनेट का प्रयोग करके ऑनलाइन मार्केटिंग कर रहा है।

परंतु क्या होता है कि जब कभी ऑनलाइन मार्केटिंग की वजह से हमारे साथ धोखाधड़ी भी हो जाती है और हमें अन्य प्रकार की परेशानियां आती हैं क्योंकि जब हम ऑनलाइन शॉपिंग करते हैं तो हमें अपने क्रेडिट कार्ड अथवा डेबिट कार्ड कि जो जानकारी होती है महत्वपूर्ण डिटेल होती है वह साझा मेरा मतलब शेयर करनी होती है परंतु आपको बताऊं जो वर्चुअल कार्ड होता है वह इसके विपरीत होता है अब वह विपरीत कैसे होता है यह आप आगे जानेंगे। बस इतना समझ लीजिए कि हमारे जो क्रेडिट कार्ड या डेबिट कार्ड होते हैं उनकी जो डिटेल होती है वह हमें पेमेंट करते समय शेयर करनी होती है परंतु वर्चुअल कार्ड में ऐसा नहीं होता है अब वर्चुअल कार्ड में कैसा होता है यह आगे जाने वाले हैं।

तो तुम बता दूं वर्तमान समय कि इस धोखाधड़ी को देखते हुए वर्चुअल क्रेडिट कार्ड का प्रचलन खूब बढ़ रहा है तो इसलिए आज आप भी इसके बारे में अवश्य जाने की वर्चुअल क्रेडिट कार्ड क्या होता है और इसे कैसे ले सकते हैं ।

वर्चुअल क्रेडिट कार्ड क्या होता है ?

दोस्तों वैसे शायद आप सोच रहे होंगे कि यह कुछ खास होता होगा तो ऐसा कुछ नहीं है यह भी डेबिट कार्ड या क्रेडिट कार्ड के जैसे ही होता है परंतु इसके अंदर कुछ खास बातें होती हैं जो इसको महत्वपूर्ण बनाती हैं। वैसे इसमें भी आपको लगभग वह सभी सारी सुविधाएं मिलती है जो आपको डेबिट कार्ड अथवा क्रेडिट कार्ड में मिलती हैं पर आप इसका केवल और केवल ऑनलाइन ही इस्तेमाल कर सकते हैं।

तुम्हें बता दूं वर्चुअल क्रेडिट कार्ड को तुम केवल कुछ समय के लिए ही बना सकते हैं, नहीं मेरा मतलब है कि यदि आप सोच रहे हो कि इसे हम सालों तक अपने पास रख सकेंगे तो ऐसा नहीं है आप इसे कुछ समय के लिए बना सकते हैं और जैसा कि हम जानते ही हैं कि इसका इस्तेमाल ऑनलाइन ही किया जाता है एक और बात बता दूं कि यह आपको लगभग क्रेडिट कार्ड और डेबिट कार्ड के जैसे ही दिखाई देगा परंतु आप इस वर्चुअल क्रेडिट कार्ड का इस्तेमाल एटीएम मशीन में नहीं कर सकते हैं। इसके लिए आवेदन करने के लिए तुम्हारा नाम, सीवीवी नंबर, कार्ड नंबर, कार्ड एक्सपायरी डेट जैसी सभी महत्वपूर्ण जानकारी मिल जाती।

जैसा कि मैंने आपको ऊपर ही बता दिया है कि वर्चुअल कार्ड को आप अपने पास कम ही समय तक रख सकेंगे मेरा मतलब है कि जो इसकी वैलिडिटी होती है वह बहुत ही कम होती है इसके बाद यह एक्सपायर हो जाता है। जब आप लेनदेन के लिए वर्चुअल कार्ड का इस्तेमाल करते हैं तो किसी भी तरह का कोई नुकसान नहीं होता है क्योंकि यदि तुम इस कार्ड को खरीद लेते हैं और इसको खरीदने के पश्चात भी इससे किसी तरह की कोई परचेज अथवा मार्केटिंग नहीं करते तो उस स्थिति में जितने भी रुपए होते हैं वह सभी तुम्हारे अकाउंट में अर्थात क्रेडिट हो जाते हैं। सीधा सीधा मतलब यह है कि इसमें किसी भी प्रकार की दिक्कत नहीं आती है।

वर्चुअल कार्ड कैसे बनाए जाते हैं ?

तो मेरे ख्याल से आप अब तक यह समझ चुके हैं कि वर्चुअल कार्ड क्या होता है और इसके आगे हम समझेंगे कि वर्चुअल कार्ड कैसे बनाया जाता है तो इसे समझाने के लिए मैं आपको एक उदाहरण देता हूं क्योंकि इससे तुम्हारी समझ में अच्छी तरह से आ जाएगी ‌ मान लीजिए तुम्हें स्टेट बैंक ऑफ इंडिया का वर्चुअल कार्ड बनवाना है तो इसके बारे में हम आपको बताएंगे।

स्टेट बैंक ऑफ इंडिया बैंक का वर्चुअल कार्ड बनवाने के लिए तुम्हारे पास इस बैंक की नेट बैंकिंग फैसिलिटी होना भी बेहद जरूरी है क्योंकि इससे ही एसबीआई वर्चुअल कार्ड को बनाया जा सकता है। यदि किसी कारण से तुमने स्टेट बैंक ऑफ इंडिया बैंक की फैसिलिटी को नहीं लिया है तो आप अपने नजदीकी स्टेट बैंक ऑफ इंडिया बैंक में जाकर नेट बैंकिंग का फॉर्म भरकर नेट बैंकिंग की फैसिलिटी ले सकते हैं इसमें आपको कोई ज्यादा परेशानी नहीं आएगी।

यदि तुम स्टेट बैंक ऑफ इंडिया डेबिट कार्ड का इस्तेमाल करते हैं तो तुम ऑनलाइन भी इस बैंक की नेट बैंकिंग की फैसिलिटी ले सकते हैं।

वर्चुअल कार्ड को बनाने के लिए नीचे दिए गए चरणों को ध्यान से पढ़ें –

प्रथम चरण 1 स्टेट बैंक ऑफ इंडिया का वर्चुअल कार्ड बनवाने के लिए तुम्हें सबसे पहले जो काम करना है वह यह करना है कि आपको स्टेट बैंक ऑफ इंडिया बैंक अकाउंट की नेट बैंकिंग साइट को लॉगइन करना होगा।

द्वितीय चरण 2 इसके बाद तुम्हें ‘MENU’ में अनेकों विकल्प दिख जाएंगे तो उन सभी में से आपको ई सर्विस वाले विकल्प पर क्लिक करना होता है।

तृतीय चरण 3 तो दोस्तों जैसे ही तुम e-service के विकल्प पर क्लिक करेंगे तो आपके सामने आई कार्ड वाले ऑप्शन पर क्लिक करने के लिए आएगा तो आपको वहां पर क्लिक कर देना है।

चतुर्थ चरण 4 तो अब जब आप ही काट के विकल्प पर क्लिक कर देते हैं तो इसके अंदर तुम्हें तीन विकल्प और दिखाई देंगे तो इनमे से जो सबसे पहला विकल्प होगा वह स्टेट बैंक वर्चुअल कार्ड का होगा तो आपको इस पर क्लिक कर देना है।

पांचवा चरण 5 इसके पश्चात तुम्हारे सामने स्टेट बैंक ऑफ इंडिया का वर्चुअल कार्ड को बनाने के लिए अमाउंट भरने के लिए कहा जाएगा तो यह बात तुम्हारे ऊपर पूर्ण रूप से निर्भर करेगी कि तुम कितने रुपए तक का वर्चुअल कार्ड बनवाना चाहते हो। यह ₹100 से लेकर ₹50000 तक का बनता है तो जैसा आप उचित समझो वैसा बनवाएं।

छठवां चरण 6 तो जब आप यहां पर अमाउंट डाल देते हैं तब आपके पास इसके पश्चात रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर एक ओटीपी आएगा। तो वह आपको दिए गए बॉक्स में डालना होता है और जैसे ही आप सबमिट सॉरी वहां आपको कंफर्म का विकल्प दिया होता है तो जैसे ही तुम कंफर्म पर क्लिक करते हैं तो वैसे ही आपका स्टेट बैंक ऑफ इंडिया का वर्चुअल कार्ड जनरेट हो जाता है। और इस कार्ड से तुम बड़ी ही आसानी से ऑनलाइन शॉपिंग कर सकते हैं इसमें किसी भी प्रकार का कोई खतरा नहीं रहता है।

सातवां चरण 7 दोस्तों यह सुविधा भी मुझे काफी अच्छी लगी है कि आप चाहे तो इसे कैंसिल भी कर सकते हैं तुम्हारी मर्जी हो तो आप इसे बनाने के पश्चात भी कैंसिल कर सकते हैं और कैंसिल करने का ऑप्शन भी आपको मिल जाता है। तो इस प्रकार से मैंने आपको एक उदाहरण देकर समझाया है कि आप ऐसे नेट बैंकिंग की सहायता से जिस भी बैंक का वर्चुअल क्रेडिट कार्ड बनवाना चाहते हैं बना सकते हैं।

वर्चुअल क्रेडिट कार्ड से क्या-क्या लाभ होते हैं ?

दोस्त के कई लव आपको देखने के लिए मिल जाएंगे जिनमें से कुछ के बारे में हम आपको अभी बता देते हैं –

वर्चुअल क्रेडिट कार्ड का प्रयोग करने के लिए खरीदने वाले और बेचने वाले दोनों ही को किसी विशेष सॉफ्टवेयर या हार्डवेयर की आवश्यकता नहीं होती है।

आपको बताता हूं वर्चुअल क्रेडिट कार्ड प्रत्येक लेनदेन हेतु एक टोकन जनरेट करता है और इसका इस्तेमाल आप बैंक अथवा रिटेलर के मध्य लेनदेन हेतु ट्रांसमिट होता है जिससे तुम्हारे वर्चुअल क्रेडिट कार्ड के बारे में किसी को पता नहीं लग सकता है।

वर्चुअल क्रेडिट कार्ड का प्रयोग करने का एक बड़ा फायदा यह भी है कि वर्चुअल क्रेडिट कार्ड की जो प्रक्रिया के अंतर्गत हर लेन-देन हेतु एक यूनिक नंबर का इस्तेमाल किया जाता है। यूनिक नंबर के एक बार प्रयोग होने के बाद आप इसका द्वारा से प्रयोग नहीं कर सकते हैं।

वर्चुअल क्रेडिट कार्ड के लगातार इस्तेमाल करने से आप इकॉमर्स साइट्स पर चल रहे विभिन्न प्रकार के ऑफर्स का लाभ उठा सकते हैं।

आपको बता दूं कि वर्चुअल क्रेडिट कार्ड पर है कर्ज की समस्या भी नहीं होती है क्योंकि यह कुछ समय के लिए ही बनाया जाता है इस कारण वह भी इस में अधिक रूचि नहीं लेते हैं आपको बता दूं जो हैकर होते हैं वह सदा लंबे समय तक चलने वाली चीजों पर ध्यान देते हैं।

हम यह उम्मीद करते हैं कि वर्चुअल क्रेडिट कार्ड के बारे में यह जानकारी आपको अच्छी लगी होगी और अच्छी तरह से समझ में आई होगी। यदि आपको इस आर्टिकल से संबंधित अन्य जानकारी चाहिए तो कमेंट बॉक्स में बताएं। हमारे आर्टिकल Read करने के लिए आपका बहुत-बहुत धन्यवाद।

Leave a Comment